देहरादून , PAHAAD NEWS TEAM

इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन के 56वें मैच में मुंबई के डी वाई पाटिल स्टेडियम में मुंबई इंडियंस का सामना कोलकाता नाइट राइडर्स से हुआ। कोलकाता के खिलाफ मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। केकेआर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई के सामने 20 ओवर में 9 विकेट पर 165 रन का स्कोर खड़ा किया। जवाब में मुंबई की टीम महज 113 रन पर ढेर हो गई। कोलकाता ने 52 रन से मैच जीतकर अपनी प्लेऑफ की उम्मीदों को जिंदा रखा।

एक और शर्मनाक हार मुंबई की

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने बेहद निराश किया और टिम साउथी की गेंद पर शेल्डन जैक्सन के हाथों सिर्फ 2 रन पर लपके गए। आंद्रे रसेल ने तिलक वर्मा को नीतीश राणा के हाथों 6 रन पर कैच कराया। दो वार के बाद ईशान किशन ने रमनदीप के साथ पारी की कमान संभाली। 10 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 66 रन था। रसेल और राणा की जोड़ी ने रमनदीप को 12 रन पर आउट कर टीम को एक और सफलता दिलाई।

लगातार तीन चौके लगाने वाले टिम डेविड को वरुण चक्रवर्ती ने 13 रन पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराया। एक छोर पर खड़े इशान ने यहां अपना अर्धशतक पूरा किया। लेकिन इसके तुरंत बाद उन्होंने पैट कमिंस की गेंद पर अपना विकेट गंवा दिया। उन्होंने 43 गेंदों में 5 चौकों और 1 छक्के की मदद से 51 रन बनाकर वापसी की. इसके बाद कमिंस ने डेनियल सैम्स को महज 1 रन पर विकेट के पीछे कैच करा दिया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर मुरुगन अश्विन को वरुण चक्रवर्ती ने लपका और वापस भेज दिया.

सिर्फ 3 रन पर रन आउट होने के बाद कार्तिकेय वापस लौटने पर मजबूर हुए । यह मुंबई की पारी का आठवां विकेट था। इसके बाद अगले ओवर में आंद्रे रसेल की गेंद पर कीरोन पोलार्ड का कैच छूटा लेकिन सटीक थ्रो ने उन्हें रन आउट कर वापस जाने पर मजबूर कर दिया। अगली ही गेंद पर जसप्रीत बुमराह भी रन आउट हो गए और मुंबई की पारी खत्म हो गई।

केकेआर की पारी, अय्यर और राणा ने बनाए 43 रन

केकेआर के लिए अजिंक्य रहाणे और वेंकटेश अय्यर ने पारी की शुरुआत की और दोनों ने पहले विकेट के लिए 60 रन की अच्छी साझेदारी की. इसके बाद कुमार कार्तिकेय ने अय्यर को 43 रन पर आउट कर मुंबई को पहली सफलता दिलाई। रहाणे ने इस मैच में 25 रन की पारी खेली और उन्हें कुमार कार्तिकेय ने आउट कर दिया। कप्तान श्रेयस अय्यर ने इस मैच में 6 रनों की पारी खेली और मुरुगन अश्विन की गेंद पर ईशान किशन को अपना कैच थमा दिया।

आंद्रे रसेल ने 9 रन बनाए और बुमराह की गेंद पर पोलार्ड को कैच दे बैठे। नीतीश राणा ने भी 43 रनों की पारी खेली और उन्होंने बुमराह की गेंद पर 43 रन बनाकर इशान किशन को विकेट के पीछे कैच करा दिया. बुमराह ने शेल्डन जैक्सन को 5 रन पर आउट कर दिया और यह उनकी तीसरी सफलता थी। बुमराह ने कमिंस के रूप में अपना चौथा विकेट लिया और उन्हें शून्य के स्कोर पर तिलक वर्मा के हाथों कैच करा दिया। बुमराह ने नरेन को अपनी ही गेंद पर कैच लेकर गोल्डन डक पर आउट किया। सैम्स ने साउथी को शून्य पर आउट किया। बुमराह ने इस मैच में 5 विकेट लिए और मुंबई के लिए सबसे सफल गेंदबाज रहे।

IPL 2022: प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए आज भिड़ेंगे गुजरात और लखनऊ!

देहरादून , PAHAAD NEWS TEAM

अपने पहले सीजन में ही शानदार प्रदर्शन करने वाली गुजरात टाइटंस और लखनऊ सुपर जायंट्स की टीम आज आईपीएल में जब आमने-सामने होगी तो उनकी नजर प्लेऑफ में जगह बनाने पर होगी. गुजरात ज्यादातर समय लीग में शीर्ष पर रहा था, लेकिन पिछले दो मैचों में बल्लेबाजों की विफलता के कारण उसे हार का सामना करना पड़ा था। इससे उसकी जगह लखनऊ शीर्ष पर पहुंच गया। हालांकि, इन दोनों टीमों के 16 अंक समान हैं और इस मैच को जीतने वाली टीम की प्लेऑफ में जगह पक्की हो जाएगी।

हार्दिक पांड्या की अगुवाई वाला गुजरात पिछले हफ्ते पंजाब किंग्स और मुंबई इंडियंस से हार गया था। वहीं, लखनऊ ने अपने पिछले चार मैच जीते हैं। इनमें कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ पिछले मैच में 75 रन की जीत भी शामिल है, जिससे लखनऊ की टीम बढ़े हुए मनोबल के साथ मैदान पर उतरेगी. केएल राहुल ने लखनऊ को आगे बढ़ाया। उन्होंने अब तक 11 मैचों में 451 रन बनाए हैं, जिसमें दो शतक और अर्धशतक शामिल हैं। लखनऊ की टीम बल्लेबाजी में उन पर काफी निर्भर है। लेकिन क्विंटन डिकाक और दीपक हुड्डा ने हाल के मैचों में अधिक जिम्मेदारी ली है, जिससे राहुल का बोझ कम हुआ है।

लखनऊ के गेंदबाज भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। पंजाब किंग्स के खिलाफ जहां उन्होंने 153 रनों का अच्छा बचाव किया। वहीं, केकेआर को केवल 101 रन बनाने दिया गया। इस मैच में तेज गेंदबाज आवेश खान और जैसन होल्डर ने शानदार प्रदर्शन किया था। तेज गेंदबाज मोहसिन खान, क्रुणाल पांड्या और श्रीलंका के दुशमंता चमीरा ने किफायती गेंदबाजी की है। रवि बिश्नोई हालांकि पिछले मैच में थोड़े महंगे साबित हुए थे। जहां तक गुजरात की बात है तो उसने मुश्किल हालात में वापसी कर अपनी स्थिति मजबूत की है. इसके अलग-अलग खिलाड़ियों ने अब तक मैच विनर की भूमिका निभाई है, लेकिन मुंबई के खिलाफ ऐसा नहीं हुआ जब वे आखिरी ओवर में नौ रन नहीं बना सके.

गुजरात के बल्लेबाजों को निरंतरता बनाए रखने की जरूरत है। उनके शीर्ष क्रम के बल्लेबाज लंबी पारी नहीं खेल पा रहे हैं. शुभमन गिल तो चमक नहीं पाए हैं, लेकिन रिद्धिमान साहा ने अपनी मंशा बखूबी जाहिर की है। हार्दिक, डेविड मिलर और राहुल तेवतिया भी हाल के मैचों में चल नहीं पा रहे थे। उन्हें टूर्नामेंट के महत्वपूर्ण मोड़ पर पुरानी लय हासिल करनी होगी। गुजरात के पास मुहम्मद शमी, लाकी फर्ग्यूसन और राशिद खान के रूप में विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं। शमी हाल ही में अपने रंग में नहीं दिखे हैं। उन्हें भी लय में वापस आने की जरूरत है।