मुंबई : बॉलीवुड अब सिर्फ केवल चमकदमक और ग्लैमर के बारे में नहीं है. बॉलीवुड के ज्यादातर सितारे अब खुद को फिट और एक्टिव रखने के लिए तरह-तरह के हुनर सीख रहे हैं. बॉलीवुड सितारे फिट होने की पूरी कोशिश कर रहे हैं और इसमें भी ऋतिक रोशन, अभिमन्यु दसानी से लेकर टाइगर श्रॉफ तक काफी कलाकार तो कैमरे के सामने अपने एक्शन स्टंट खुद करते हैं.

अभिनेत्री लोपामुद्रा राउत भी इस सूची में शीर्ष के कुछ लोगों में से एक हो ऐसा लग रहा है। लोपामुद्रा ने मार्शल आर्ट के बारे में खुलकर बात की और बताया कि कैसे इसने उनमें रुचि जगाई है, वह कहती हैं, “मैं हॉलीवुड एक्शन फ़िल्में जैसे की ‘साल्ट’, ‘लारा क्रॉफ्ट: टॉम्ब रेडर’, ‘कोलम्बियाना’, ‘लुसी’ से बहुत प्रभावित थी और इसलिए मैं मार्शल आर्ट और जिमनास्टिक करना चाहती थी और कोविड के दौरान मैंने इसे गंभीरता से करना शुरू कर दिया।

मुझे लगता है कि यह एक अच्छा जीवन कौशल भी है और क्योंकि मैं फिल्मों में एक्शन भूमिकाएं करने के लिए बेहद इच्छुक हूं, तो यह वास्तव में काम आ सकता है। मैं वास्तव में भाग्यशाली हूं कि मेरे पास भारत में अच्छे ट्रेनर है और मुझे लगता है कि इससे कौशल निर्माण में काफी फायदा हो सकता है. एक महान ट्रेनर और सही तकनीक आवश्यक है। यदि आप मार्शल आर्ट में अपने तरीके और तकनीक में समझौता करते हैं, तो इससे बड़ी चोट लग सकती है।”

भारत में ऐसी ज्यादा अभिनेत्रियां नहीं हैं जिन्होंने एक्शन फिल्में की हैं। वास्तव में भारत में महिला एक्शन हीरो पर कोई फिल्म बनी ही नहीं है। लोपामुद्रा आगे कहती हैं कि वह ऐसी फिल्मों का हिस्सा बनना चाहती हैं और अपने स्टंट खुद करना चाहती हैं। अभिनेत्री एक्शन फिल्मों में दिखना चाहती हैं और कहती हैं कि वह ऐसे किरदार निभाना चाहती हैं जो न केवल उन्हें अपनी एक्टिंग की स्किल्स दिखाने का मौका दे बल्कि उन्हें कुछ डेयर डेविल एक्शन करने का अवसर भी प्रदान करे।

इंस्टाग्राम पर लोपामुद्रा के हालिया पोस्ट से सब हिल चुके है. इस पोस्ट में उनके टॉर्नेडो किक, फ्लाइंग किक, जंप बैक किक, कार्टव्हील, किक बॉक्सिंग और उनके कुछ और फ्लिप नजर आ रहे है. उनके इस होश उड़ा देने वाले वाले प्रदर्शन से पता चलता है कि अभिनेत्री एक बेहतरीन एक्शन फिल्में पसंद करेगी।

यह पूछे जाने पर कि क्या उनके वॉशबोर्ड एब्स और समग्र फिटनेस के पीछे मार्शल आर्ट कारण है? तो उन्होंने जवाब दिया, “यह एकमात्र कारण नहीं है, यह सभी का संयोजन है। मेरे लिए फिटनेस एक विकल्प नहीं है, यह एक जीवन शैली है. मैं अपनीदिनचर्या में फिटनेस को शामिल करती हूं और स्वस्थ खाने की आदत, मार्शल आर्ट और वेईट ट्रेनिंग भी मेरी फिटनेस में योगदान देते है”।