मसूरी, PAHAAD NEWS TEAM

बारिश के मौसम में भूस्खलन के कारण मसूरी-देहरादून मार्ग पर गलोगी धार में एक बड़ी समस्या है, लेकिन अभी तक इसका इलाज नहीं किया गया है, जबकि आगामी बारिश दो महीने बाद शुरू होने वाली है और एक बार फिर स्थानीय लोगों और पर्यटकों को परेशानी होगी । इस संबंध में एसडीएम नरेश दुर्गापाल ने कहा कि हर साल मसूरी-देहरादून मार्ग पर गालोगी धार में भूस्खलन से पर्यटकों को काफी नुकसान होता है, जिसके लिए जल्द ही मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा. इस संबंध में एसडीएम ने लोक निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता से बात की, जिस पर उन्होंने बताया कि सर्वे इसके ज्योजोलाजिस्ट ने किया है, जिसकी रिपोर्ट आ गई है और अब इसकी किसी भी कंपनी से डीपीआर तैयार की जा रही है. जैसे ही डीपीआर बनकर तैयार हो जाएगी और इसे फाइनल कर लिया जाएगा, उसके बाद काम शुरू कर दिया जाएगा क्योंकि इसका पूरी तरह से इलाज किया जाना है। मालूम हो कि पिछले साल मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खुद वहां फंस गए थे और उन्होंने मौके पर अधिकारियों को बुलाकर इस संबंध में बातचीत की थी. उधर, राज्य के कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि इस संबंध में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है, जिसमें इस संबंध में बातचीत होनी है. उधर, एसडीएम दुर्गापाल ने कहा कि नगर पालिका टाउन हाल पार्किग एमडीडीए द्वारा बनाई गई है, जिसका टेंडर जल्द निकाला जा रहा है, वहीं मसूरी में करोड़ों की लागत से बनी किंक्रेग पार्किग व नगर पालिका टाउन हाल पार्किग का उपयोग न होने से लगातार जाम लग रहा है. . लोक निर्माण विभाग ने इसे बनाकर पर्यटन विभाग को सौंप दिया है और पर्यटन विभाग भी जल्द ही टेंडर आमंत्रित कर रहा है. और इस मौसम में पर्यटकों को इसके उपयोग का लाभ मिलेगा।