रुड़की , PAHAAD NEWS TEAM

आत्मदाह की धमकी देने वाले भाजपा नेता जगजीवन राम को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. जिसके बाद जगजीवन राम के भाई रोहित कुमार ने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि भू-माफिया के दबाव में पुलिस-प्रशासन यह कार्रवाई कर रहा है. ऐसे में उन्होंने राज्य से पलायन की चेतावनी दी है.

बता दें, गुरुवार को रुड़की में पत्रकारों से बात करते हुए बीजेपी अनुसूचित मोर्चा के गढ़वाल मंडल के संयोजक जगजीवन राम के भाई रोहित कुमार ने बताया कि उनका भाई लंबे समय से भू-माफियाओं से लड़ाई लड़ रहा है. उन्होंने कहा कि करीब 100 करोड़ का घोटाला है, जिसके खिलाफ वह लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं.

बिना कार्रवाई किए वह 10 दिसंबर 2021 को रुड़की तहसील में आत्मदाह के लिए एक पेड़ पर चढ़ गया। तब प्रशासन द्वारा दो महीने में कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था, लेकिन चार महीने बाद भी कोई कार्रवाई न होने पर जगजीवन राम ने 16 अप्रैल को फिर से आत्मदाह की चेतावनी दी।

रोहित कुमार ने बताया कि गुरुवार सुबह रुड़की कोतवाली पुलिस कनखल स्थित उनके आवास पर पहुंची और अभद्रता करते हुए उनके भाई जगजीवन राम को गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद उन्होंने अपना मेडिकल करवाया और आनन-फानन में जेल भेज दिया। रोहित का आरोप है कि भू माफिया के दबाव में उसके भाई के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने कहा कि अब उनके भाई की गिरफ्तारी के कारण वह परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों के साथ रुड़की संयुक्त मजिस्ट्रेट कार्यालय के बाहर धरने पर बैठेंगे और सभी को जेल भेजने की मांग करेंगे.

रोहित ने कहा कि उन्हें और उनके परिवार को राज्य से पलायन को मजबूर होना पड़ेगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश का शासन उत्तराखंड से बेहतर है, और वहां सबकी सुनी जाती है। ऐसे में वह उत्तर प्रदेश में ही रहेंगे।