देहरादून , PAHAAD NEWS TEAM

जिलाधिकारी डॉ. आर. राकेश कुमार ने कहा है कि लोगों की जरूरतों और अपेक्षाओं के अनुरूप सभी के सुझाव और भागीदारी से देहरादून शहर का विकास किया जाएगा. देहरादून शहर को यात्रा अनुकूल बनाने के लिए आयोजित CITIIS (सिटीज इनवेस्टमेंट्स टू इनोवेट इंटीग्रेट एंड सस्टेन) की बैठक में जिलाधिकारी ने यह बात कही है।

बैठक में जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को स्थानीय जनप्रतिनिधियों, मेयर, स्थानीय स्टेक होल्डर्स, व्यापारियों के साथ बैठक कर प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी और उनके सुझाव भी लिये. डीएम ने सिटी प्रोजेक्ट के तहत बनने बनने वाली ‘चाइल्ड फ्रेंडली’ इंफ्रास्ट्रक्चर सुविधाएं, फुटपाथ, पार्किंग, दिव्यांग और वृद्धजनों, के लिए सुविधाजनक के साथ ही ठेली, रेहड़ी वाले छोटे वेंडरों के लिए भी स्थान चिन्हित करने को कहा, ताकि किसी का रोजगार न हो प्रभावित । .

जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे स्थानीय जनप्रतिनिधियों, हितधारकों, व्यापारियों, स्थानीय जनता से मिल कर उनसे सुझाव मांगें, ताकि सभी के सुझाव और भागीदारी से शहर और बुनियादी सुविधाओं का विकास किया जा सके. नगर परियोजना के अधिकारियों ने नगर परियोजना के कार्यों की रूपरेखा व मानचित्र की जांच करते हुए जिलाधिकारी को कार्यों की विस्तृत जानकारी दी.

जिलाधिकारी डॉ. आर. राजेश कुमार ने बताया कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट लिमिटेड के तहत संचालित स्मार्ट स्कूल, वाटर एटीएम, यातायात सिग्नल, स्मार्ट टॉयलेट आदि का कार्य लगभग पूरा हो चुका है. इसी तरह जल वितरण प्रणाली में 29 किमी में से 21 किमी पाइपलाइन बिछाई गई है। शेष पर कार्य प्रगति पर है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट लिमिटेड के तहत बन रही दून लाइब्रेरी भवन का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट लिमिटेड के तहत दून इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से सीसीटीवी कैमरों से हर गतिविधि की निगरानी कर शहर के बुनियादी ढांचे, सीवरेज विकास, परिवहन सुविधाओं का उन्नयन और सुरक्षा योजनाएं बनाई गईं है। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के तहत भूमिगत बिजली लाइनों, गैस पाइपलाइनों और अन्य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की प्रगति में तेजी लाने के निर्देश जारी किए गए हैं।