हल्द्वानी , PAHAAD NEWS TEAM

कांग्रेस आगामी विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों में जुटी है. इसी कड़ी में हल्द्वानी पहुंचे कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने उत्तराखंड आपदा को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा है कि उत्तराखंड सरकार ने धरातल पर कोई काम नहीं किया है. साथ ही रैणी से लेकर रामगढ़ तक की आपदा से राज्य सरकार ने कोई सबक नहीं सीखा है. अगर राज्य सरकार ने कुछ किया होता तो इतनी बड़ी जनहानि नहीं होती।

किशोर उपाध्याय ने कहा कि कुमाऊं क्षेत्र में यह आपदा मानव निर्मित है. इसके लिए केवल हम जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि यह चिंता का विषय है कि इन आपदाओं से निपटने के लिए कोई समाधान निकाला जा सकता है। उन्होंने कहा कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों में पीड़ितों ने खुद बताया कि वे सरकारी कर्मचारियों को खाना खिला रहे हैं.

आपदा प्रभावितों को कोई सरकारी राहत नहीं दी जा रही है। उत्तराखंड विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाला राज्य है। इसे देखते हुए सबसे पहले यहां आपदा के मानकों में बदलाव किया जाना चाहिए। साथ ही आपदा में जान गंवाने वालों के परिवारों को कम से कम 50 लाख मुआवजा दिया जाए और उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले.

उन्होंने कहा कि आपदा के समय लोगों को न बचाना सरकार की नाकामी है। सरकार को पीड़ित परिवारों के नुकसान का उचित आकलन करना चाहिए और उन्हें शत-प्रतिशत मुआवजा प्रदान करना चाहिए। वहीं, मौजूदा सरकार हवाई यात्रा तक ही सीमित है।